17.2 C
New York
Saturday, September 24, 2022

सुबह उठकर क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए जाने सभी बातें

सुबह उठकर क्या करना चाहिए अगर दिन की शुरूआत अच्छी हो तो सारा दिन अच्छा गुजरता है पर सुबह ही थकान और मन उदास हो तो सारा दिन न तो काम में दिल लगता है और न ही काम खत्म होता है और मन बुझा – बुझा सा रहता है ।

अक्सर हम कुछ ऐसी गलतियां सुबह के समय उठते ही कर बैठते हैं , जो जान- बूझकर नहीं , अनजाने में हो जाती हैं । उनका प्रभाव हमारी सेहत पर कुछ समय बाद दिखना शुरू हो जाता है ।

अगर हम उन गलतियों को लगातार नजर – अंदाज करते रहेंगे तो परिणाम बुरा हो सकता है । आईए देखें क्या गलतियां हम करते हैं

सुबह उठकर क्या करना चाहिए

सुबह उठकर क्या करना चाहिए

देरी से उठना और हड़बड़ाहट में काम में लगना

अक्सर हम प्रातः समय पर नहीं उठ पाते । अलार्म बजने के भी पंद्रह से तीस मिनट बाद उठते हैं । समय देखते हैं और हड़बड़ाहट से उठकर एकदम काम में लग जाते हैं ।

हड़बहाहट में काम ठीक नहीं होता और समझ नहीं आता कि पहले क्या करें और तनाव भी बना रहता है , जिसका सीधा प्रभाव हमारे स्वास्थ्य पर पड़ता है ।

दिन की शुरूआत अगर शांत स्वभाव से करें तो सारा काम आराम से , यानी बिना तनाव और बिना हड़बड़ाहट के होता चला जाता है । इसके लिए प्रातः दो या तीन अलार्म कुछ गैप में लगाएं और लास्ट अलार्म पर दाई करवट लेकर उठे

बिस्तर पर दो चार पांच मिनट बैठे , थोड़ा पानी पीएं । चेहरे पर मुस्कान लाएं और भगवान का धन्यवाद करें जिनकी बदौलत आप प्रातःकाल का मुंह देख रहे . हैं । फिर बिस्तर से उठकर शौच आदि जाएं ।

प्रातः उठते ही थोड़ी – सी स्ट्रेचिंग करें

जब हम रात्रि में सोते हैं तो शरीर शिथिल अवस्था में होता है और सारी मांसपेशियां सख्त हो जाती है । अगर हम उठते ही काम में लग जाते हैं , तो शरीर अपनी सही अवस्था में आए बिना उतना चुस्त नहीं हो पाता ।

अगर हम चार – पांच बार बाजुओं को स्ट्रेच कर लें और कमर भी सीधी कर लें तो शरीर में चुस्ती का संचार हो जाएगा और दिनभर हम स्फूर्तिवान बने रहेंगे ।

उठते ही चाय न पीएं :

बहुत से लोगों को प्रातः उठते ही बेड – टी पीने की आदत होती है , यह शरीर को नुकसान पहुंचाती है खाली पेट चाय कभी न पीएं ।

प्रातः की शुरूआत एक गिलास नींबू पानी से करें । इससे शरीर के विषैले तत्व बाहर निकलते हैं और हमारी रोगप्रतिरोधक क्षमता में भी बढ़ावा होता है ।

अगर चाय पीनी है तो नींबू पानी पीने के एक घंटे बाद ग्रीन – टी पीएं ।

उठते ही मोबाइल का प्रयोग न करें :

बहुत से लोगों की आदत होती है कि उठते ही फोन उठाते हैं और अपनी ईमेल , मैसेज आदि चैक करना शुरू कर देते हैं ये आपको तनाव भी दे सकते हैं और प्रातः काल के तनाव का अर्थ दिन भर का तनाव । इसलिए उठते ही मोबाइल पर इन्हें चेक न करें ।

सुबह उठकर क्या करना चाहिए

सुबह उठकर क्या करना चाहिए

नाश्ता अवश्य करें :

विशेषज्ञों के अनुसार प्रातः का नाश्ता न करना हमारे शरीर में तनाव को बढ़ाता है और जिससे मोटापा , मधुमेह जैसे रोग उत्पन्न होते हैं और शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता में कमी आती है ।

अगर प्रातः का नाश्ता न किया जाए तो दोपहर तक समय का काफी अंतराल होने के कारण ब्लडप्रेशर का स्तर कम हो जाता है जो सेहत के लिए नुकसानदेह होता है ।

उठने के एक घंटे के अंदर कुछ न कुछ अवश्य लें ताकि शरीर में ऊर्जा का संचार बना रहे । भीगे बादाम , चाय – बिस्किट , फल , ब्रेड – चाय ले सकते हैं

सुबह उठकर क्या करना चाहिए

मुस्कुराते हुए उठे :

मुस्कुराने में कभी भी कंजूसी न करें । विशेषकर प्रातः अपने अधरों पर मुस्कान लाएं ताकि दिनभर आप मुस्कुराते रहें । बहुत से लोग लाफ्टर क्लब के मेंबर होते हैं जहां वे खुलकर हंसते हैं ।

हंसने से हमारा तनाव दूर होता है , हार्ट – बीट सामान्य बनी रहती है , बीपी पर नियंत्रण रहता है और शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और इतना कुछ पाने के लिए थोड़ी – सी मुस्कुराहट की जरूरत होती है ।

करें व्यायाम नियमितः

स्वयं को फिट रखने हेतु व्यायाम चार मुख्य स्तंभों में से एक है । चार स्तंभ हैं पौष्टिक आहार , सकारात्मक सोच , व्यायाम और आराम ।

एक भी स्तंभ को हम नजरअंदाज करेंगे तो स्वास्थ्य पर गलत प्रभाव पड़ेगा , और सेहत को नुकसान पहुंचेगा ।

सैर , जागिंग , योग , प्राणायाम या कोई अन्य व्यायाम आधे घंटे के लिए प्रतिदिन अवश्य करें और इन्हें भी अपनी दिनचर्या में स्थान दें

अगले दिन की योजना बनाएं :

प्रातः उठकर क्या बनाना है , टिफिन में क्या ले जाना है , पहले किन कार्यों को निपटाना है , इसकी योजना एक दिन पूर्व बना लें ताकि प्रातःकाल योजना के अनुसार अपने काम निपटा सकें ।

आजकल भागदौड़ की जिंदगी में समय बहुत नपा तुला होता है । अगर उसका सदुपयोग योजनाबद्ध तरीके से किया जाए , तो सुबह की झुंझलाहट से बचा जा सकता है ।

झुंझलाहट से दिल पर असर पड़ता है क्योंकि दबाव का ज्यादा प्रभाव दिल और दिमाग पर ही पड़ता है । रात्रि में ही प्रात : क्या पहनना है , निकाल कर रख दें तो आप शांत स्वभाव से सभी काम बिना किसी तनाव के निपटा सकते हैं ।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

3,400FansLike
500FollowersFollow
- Advertisement -

Latest Articles